नए विदेशी ऋणों पर सबसे अधिक ब्याज दर वाले देश

वर्तमान में, विकासशील देशों के कई देश अक्सर अपने नए बाहरी ऋण पर 5% से अधिक ब्याज दर देखते हैं। देशों के नए विदेशी ऋण बाहरी ऋण हैं लेकिन वर्ष के दौरान लिए गए ऋण हैं। इन नए विदेशी ऋणों की ब्याज दरों में उस विशेष वर्ष के लिए केवल नए सार्वजनिक और सार्वजनिक रूप से सुरक्षित ऋण शामिल हैं। विदेशी ऋण किसी देश के विदेशी ऋण की राशि का एक संयोजन होता है, जिसके बाद उसके घरेलू ऋणों को कुल मिलाकर प्राप्त किया जाता है। देनदार मुख्य रूप से कॉर्पोरेट संस्थाएं, निजी नागरिक और देश की सरकार हैं। लेनदारों में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF), विश्व बैंक, निजी वाणिज्यिक बैंक और सरकारें शामिल हैं।

जाम्बिया

जाम्बिया अपने नए विदेशी ऋणों पर उच्चतम औसत ब्याज दरों को चुकाने वालों की सूची जारी करता है, उसी पर इसकी 7.3% औसत ब्याज दर के साथ। 1990 के दशक के दौरान, आईएमएफ और विश्व बैंक ने ज़ाम्बिया के विदेशी ऋणों पर कम ब्याज दर के लिए संभव बनाया, लेकिन बाद में इसके स्वास्थ्य और शिक्षा पर सामाजिक अशांति और बड़े पैमाने पर अस्थिर कटौती हुई। कुछ ऋणी 2005 में सबसे बड़े 40 बिलियन डॉलर अमरीकी डॉलर के साथ ऋण राइट-ऑफ पर सहमत हुए। वर्ष 2014 में इसकी जीडीपी में 6% की वृद्धि के साथ इसकी अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ।

एल साल्वाडोर

अल साल्वाडोर अपने नए विदेशी ऋणों को औसतन 6.9% की उच्च ब्याज दर पर चुकाता है। 2014 में अंतरराष्ट्रीय बाजार में अल सल्वाडोर ने लगभग 800 मिलियन अमरीकी डॉलर का सॉवरेन बॉन्ड (यूरो बॉन्ड) जारी किया था। फिर भी, इस कदम ने अपने असमान राजनीतिक हालात से अपने विशाल बाहरी कर्ज से उपजे आर्थिक संकट को कम करने के लिए बहुत कम किया। । वर्ष 2016 में देश की ऋण वृद्धि में वृद्धि हुई बनाम कम आर्थिक वृद्धि एक उच्च राजकोषीय घाटे के साथ युग्मित हुई। मूडी ने भी बी 3 से बी 1 के लिए ऋण रेटिंग को घटा दिया है।

घाना

घाना में अपने नए विदेशी ऋणों के पुनर्भुगतान पर लगाया जाने वाला 6.3% औसत ब्याज दर है। देश 2012 से 2015 तक एक उच्च बाह्य ऋण का सामना कर रहा है, जिससे जीडीपी अनुपात में इसके ऋण में वृद्धि हुई है। समस्या यह है कि इसके विदेशी ऋणों की ब्याज दरें अब इसके पूंजीगत व्यय की तुलना में अधिक हैं जो तीन सफल वर्षों के लिए दोहरे अंकों के घाटे के कारण हैं। 2015 की फिच रेटिंग्स ने घाना को सभी उप-सहारन देशों में सबसे अधिक औसत ब्याज दर के रूप में सूचीबद्ध किया, जिसके परिणामस्वरूप उच्च ब्याज दरों से बने ऋण विदेशी और घरेलू ऋण थे।

लेबनान

लेबनान आधिकारिक तौर पर 6.2% की औसत ब्याज दर पर अपने नए विदेशी ऋण को चुकाता है। लेबनान सरकार ने अपने उच्च बाह्य ऋणों के कारण आर्थिक ठहराव को कम करने के लिए नए उपाय किए हैं। इसका उन पड़ोसी देशों से मुकाबला करना है जिन्होंने अपने वित्तीय बाजारों को उच्च प्रौद्योगिकी के साथ अपग्रेड किया है। इसके उच्च-अंत वाले निवेशक अपने बाजारों को बनाए नहीं रख सकते हैं जिनमें दीर्घकालिक वित्तीय निवेश की कमी है। यह अपने ऋण उधार को नियंत्रित करने में भी असमर्थ रहा है जिसकी ब्याज दरों में इसकी आर्थिक वृद्धि को जोड़ा गया है।

परागुआ

पराग्वे हाल के वर्षों में अपने नए विदेशी ऋण को 5.7% की औसत ब्याज दर पर चुका रहा है। 1992 में, पैराग्वे सरकार ने अपने विदेशी ऋण को कम करने के लिए अपने विदेशी भंडार में कुछ समायोजन किया और अपने अंतरराष्ट्रीय लेनदारों को दिया। वर्ष 2003 में कई राजकोषीय सुधार आए, जिसमें सेवानिवृत्ति, पेंशन फंड, कर प्रणाली, टैरिफ कोड और वित्त मंत्रालय के प्रशासन शामिल थे। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) ने 2003, 2004 और 2005 में सामाजिक व्यय की निगरानी के लिए वित्त मंत्रालय के साथ काम किया। उपलब्धियों में राजकोषीय संतुलन, समय पर ऋण चुकौती और आर्थिक सुधार शामिल हैं।

विदेशी ऋण पर उच्च ब्याज प्राप्त करने वाले अन्य देश

अपने नए विदेशी ऋणों में कुछ सबसे अधिक औसत ब्याज दर वाले अन्य देशों में 5.2% पर जमैका, 5.0% पर आइवरी कोस्ट, 4.8% पर बेलारूस, 4.3% पर पाकिस्तान और 4.2% पर केप वर्डे हैं। इन नए सार्वजनिक और सार्वजनिक रूप से गारंटीकृत ऋणों की औसत ब्याज दर देश के ऋण की कुल राशि द्वारा भारित होने के बाद प्राप्त की जाती है।

नए विदेशी ऋणों पर सबसे अधिक ब्याज दर वाले देश

श्रेणीदेशनई बाहरी ऋण पर औसत ब्याज
1जाम्बिया7.3%
2एल साल्वाडोर6.9%
3घाना6.3%
4लेबनान6.2%
5परागुआ5.7%
6जमैका5.2%
7हाथीदांत का किनारा5.0%
8बेलोरूस4.8%
9पाकिस्तान4.3%
10केप वर्दे4.2%

अनुशंसित

केन्या की संस्कृति
2019
द्वीपीय बौनावाद क्या है?
2019
नीदरलैंड किस महाद्वीप में है?
2019