फिलीपींस की अर्थव्यवस्था

फिलीपींस की अर्थव्यवस्था का अवलोकन

फिलीपींस में सरकारी नीति द्वारा विनियमित निजी स्वामित्व वाले व्यवसायों के साथ मिश्रित अर्थव्यवस्था है। इसे एक नव औद्योगीकृत अर्थव्यवस्था और उभरते बाजार माना जाता है, जिसका अर्थ है कि यह कृषि-आधारित अर्थव्यवस्था से अधिक सेवाओं और विनिर्माण के साथ बदल रहा है। यहां की अर्थव्यवस्था दुनिया में 36 वीं सबसे बड़ी और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन (आसियान) की तीसरी सबसे बड़ी है।

2016 में, इसका नाममात्र सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) $ 316.87 बिलियन था और प्रति व्यक्ति जीडीपी $ 3, 042 था। इस देश में 64.8 मिलियन की कार्यबल और 4.7% की बेरोजगारी दर है। इन नियोजित व्यक्तियों में से 53% सेवा क्षेत्र में काम करते हैं। इसके बाद कृषि (32%) और उद्योग (15%) है।

फिलीपींस के प्रमुख उद्योग

फिलीपींस का प्रमुख उद्योग सेवा क्षेत्र है जो सकल घरेलू उत्पाद का 57.03% योगदान देता है। उद्योग, हालांकि केवल 15% रोजगार प्रदान करता है, सकल घरेलू उत्पाद का 33.48% योगदान देता है। कृषि केवल जीडीपी का 9.49% प्रदान करती है। प्रमुख निर्मित सामानों में शामिल हैं: इलेक्ट्रॉनिक्स असेंबली, रसायन, खाद्य निर्माण, जहाज निर्माण, वस्त्र, मछली पकड़ने, पेट्रोलियम रिफाइनरी, और व्यापार प्रक्रिया आउटसोर्सिंग।

शीर्ष निर्यात माल और फिलीपींस के निर्यात भागीदार

2014 में, फिलीपींस ने $ 80 बिलियन का सामान निर्यात किया, जिससे यह दुनिया में 41 वीं सबसे बड़ी निर्यात अर्थव्यवस्था बन गई। इसके मुख्य निर्यात में शामिल हैं: एकीकृत सर्किट ($ 17.1 बिलियन), कंप्यूटर ($ 6.44 बिलियन), कार्यालय मशीन पार्ट्स ($ 4.37 बिलियन), सेमीकंडक्टर डिवाइस ($ 3.65 बिलियन, और निकल अयस्क ($ 2.9 बिलियन)) इसके निर्यात का एक बड़ा प्रतिशत निम्नलिखित पर जाता है। देशों: चीन ($ 19 बिलियन), जापान ($ 11.1 बिलियन), अमेरिका (9.4 बिलियन डॉलर), सिंगापुर (5.54 बिलियन डॉलर), और हांगकांग (5.01 बिलियन डॉलर)।

शीर्ष आयात माल और फिलीपींस के आयात भागीदार

2014 में फिलीपींस में आयात $ 80.7 बिलियन था, जिससे इस देश को $ 741 मिलियन का नकारात्मक व्यापार संतुलन मिला। इसका मतलब यह है कि देश ने जितना निर्यात किया उससे अधिक माल आयात किया। इसके प्रमुख आयातों में शामिल हैं: एकीकृत सर्किट ($ 9.7 मिलियन), परिष्कृत पेट्रोलियम (6.15 मिलियन डॉलर), कच्चा पेट्रोलियम ($ 5.88 बिलियन), कार ($ 2.74 बिलियन), और विमान, हेलीकॉप्टर, या अन्य विमान (2.52 बिलियन डॉलर)। इसके आयात का एक बड़ा हिस्सा निम्नलिखित देशों से आता है: चीन (13.8 बिलियन डॉलर), दक्षिण कोरिया (7.51 बिलियन डॉलर), जापान (7.02 बिलियन डॉलर), अमेरिका (6.65 बिलियन डॉलर) और सिंगापुर (4.84 बिलियन डॉलर)।

फिलीपींस की अर्थव्यवस्था द्वारा सामना चुनौतियां

यद्यपि इस अर्थव्यवस्था को वर्ष 2050 तक 16 वीं सबसे बड़ी भविष्यवाणी की जाती है, लेकिन यह कुछ महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करती है। इसका विकास अविकसित बुनियादी ढांचे और व्यापक गरीबी से बाधित है। इसके अतिरिक्त, यहां के कई लोग विदेश में रहने वाले परिवार के प्रेषण पर भरोसा करते हैं, जिसका अर्थ है कि यदि विदेशों में रहने वाले फिलिपिनो की आर्थिक स्थिति में गिरावट आती है, तो प्रेषण में भी कमी आएगी। इस देश में सरकारी भ्रष्टाचार के साथ एक महत्वपूर्ण समस्या भी है, एक ऐसा तथ्य जो अधिकतम निजी विदेशी निवेश की क्षमता में बाधा डालता है। विदेशी निवेश के बिना, यह देश अपनी तेजी से जनसंख्या वृद्धि के साथ रखने में सक्षम नहीं है।

भविष्य की आर्थिक योजनाएं

फिलीपींस की भविष्य की आर्थिक योजनाओं के हिस्से में पूरे देश में रोजगार के अवसर बढ़ाना शामिल है। इससे न केवल निवासियों की क्रय शक्ति बढ़ती है, बल्कि अर्थव्यवस्था को गति मिलती है, बल्कि इससे करों के रूप में सरकारी आय में भी वृद्धि होती है। करों में वृद्धि से सरकार को अपना बजट बढ़ाने और परिवहन और संचार दोनों की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में निवेश करने की अनुमति मिलेगी। कुछ अर्थशास्त्रियों का सुझाव है कि फिलीपींस को अपने अंतरराष्ट्रीय संबंधों के साथ-साथ अपने निर्यात भागीदारों की संख्या बढ़ाने के लिए भी देखना चाहिए।

अनुशंसित

कहाँ है रेटा झील?
2019
गंगा नदी मर रही है, और तेजी से मर रही है
2019
बेनेलक्स देश क्या हैं?
2019